चेन्नई. मद्रास हाई कोर्ट ने उस याचिका को खारिज़ कर दिया है जिसमे तमिलनाडु सरकार से मुख्यमंत्री जयललिता के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी मांगी गयी थी. हाइ कोर्ट ने याचिका के उस पहलू को भी खरिज कर दिया गया है जिसमे कार्यवाहक मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा करने की मांग की गयी थी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गौरतलब है कि जयललिता को पिछले 22 सितंबर को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में बुखार और डिहाइड्रेशन की शिकायत पर भर्ती कराया गया था. बाद में डॉक्टरों ने कहा की वह इस समय वेंटीलेटर पर है और बहुत तेजी से ठीक हो रही है. पूरी तरह से ठीक होने में उन्हें कुछ समय लगेगा. जिसके बाद से जयललिता के बहुत से चाहने वाले अस्पताल के बाहर उनके ठीक होने का इंतज़ार कर रहे है.
 
इससे पहले तमिलनाडु के राज्यपाल सी विद्यासागर राव ने अस्पताल जाकर जयललिता के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली थी. उन्होंने सलाह दी थी की रोज रात 8 बजे उनका एक हैलट बुलेटिन रिलीज किया जाय. जयललिता की पार्टी AIADMK ने उन चार लोगों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है जिन्होंने उनके स्वास्थ्य के सम्बन्ध में गलत जानकारियां सोशल मीडिया पर दी थी.