नई दिल्ली. आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर किसान यात्रा पर निकले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को दिल्ली पहुंच गए हैं. राहुल गांधी ने 3438 किलोमीटर की यात्रा की है. इस यात्रा में उन्होंने मजदूर और किसानों की समस्याओं को उठाया. कांग्रेस ने कहा है कि हम किसानों और गरिबों की इस लड़ाई को सड़क के साथ-साथ संसद में जारी रखेंगे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
‘किसानों के लिए सड़क से संसद तक लड़ेंगे’
यूपी कांग्रेस उपाध्यक्ष आरपीएनसिह का कहना है कि इसका समापन संसद मार्ग पर जरूर हो गया लेकिन आने वाले समय में ये लड़ाई हम सड़क से संसद तक लड़ेंगे. हम गरीबों और किसानों की मांग व आवाज लेकर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल करेंगे. किसानों ने राहुल गांधी पर भरोसा दिखाया है, ऐसे में हम सरकार तक उनकी आवाज पहुंचाने का काम करेंगे.
 
 
राहुल धार्मिक संस्थानों के साथ स्कूल कॉलेजों में भी गए
पिछले 6 सितंबर से उत्तर प्रदेश के पूर्वी जिले देवरिया से राहुल गांधी ने अपनी किसान यात्रा शुरू करके महीने भर तक राज्य के अधिकांश जिलों और इलाकों की यात्रा करते हुए गुरुवार को दिल्ली पहुंच रहे हैं. राहुल की यात्रा का गुरुवार को 26वां दिन होगा. पश्चिमी यूपी के मेरठ से राहुल ने यात्रा शुरू करते हुए मोदीनगर, गाजियाबाद होते हुए दिल्ली गुरुवार को पहुंचेंगे. राहुल गांधी ने गरीबों, किसानों, व मजदूरों से मिलने के साथ-साथ वह लगातार दरगाहों, मंदिरों और विभिन्न धार्मिक संस्थानों समेत स्कूल कॉलेज में भी जनसंपर्क करते दिखे.
 
 
कांग्रेस दिल्ली में दिखाया यात्रा का दम
उत्तर प्रदेश के साथ-साथ राहुल की यात्रा के आखिरी पड़ाव में कांग्रेस ने दिल्ली में भी अपना दम दिखाने की योजना बनाई है. दिल्ली में कांग्रेस ने राहुल गांधी के रोड शो को सफल बनाने के लिए अपने आसपास के राज्यों के नेताओं से वकर्स और लोगों की भीड़ लाने की जिम्मेदारी सौंपी गई. दिल्ली के अलावा पंजाब, यूपी, हरियाणा, राजस्थान से लोग दिल्ली पहुंचे.