नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट में चल रहे ट्रिपल तलाक मामले में नया मोड़ आ गया है, पहली बार किसी मुस्लिम महिला संगठन ने तीन तलाक का समर्थन किया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दो मुस्लिम महिला संगठनों ने इसका समर्थन करते हुए याचिका दायर की है. उन्होंने याचिका में कहा है कि तीन तलाक को मूल अधिकारों के उल्लंघन के तहत चुनौती नहीं दी जा सकती.
 
मुस्लिम वुमंस वेलफेयर ऑर्गनाइजेशन और निशा नाम के संगठनों की तरफ से दायर की गई याचिका में यह भी कहा गया है कि मुस्लिम महिलाओं को पुरुषों से ज्यादा अधिकार मिले हैं.