नई दिल्ली. एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग रैकेट की जांच करते हुए नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने भारतीय वायुसेना के एक कार्यरत विंग कमांडर को गिरफ्तार किया है. ​इस विंग कमांडर का नाम राजशेखर रेड्डी बताया गया है. उस पर ​कई राज्यों में ड्रग्स रैकेट चलाने का आरोप है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राजशेखर रेड्डी को तेलंगाना-महाराष्ट्र बॉर्डर पर गिरफ्तार किया गया है. उसके साथ दो और लोग पकड़े गए हैं. खबरों के मुताबिक जिस वक्त रेड्डी गोवा भागने की कोशिश कर रहा था तब उसे गिरफ्तार किया गया. 
 
विदेशों में भी रैकेट
दिल्ली में तैनात आंध्र प्रदेश के रहने वाले राजशेखरा रेड्डी पर ड्रग्स बनाने के लिए फंडिंग करने का शक है. उसका रैकेट विदेशों तक फैला हुआ है. भारत में इसकी पहुंच हैदराबाद, बेंगलूरु और गोवा तक है.
 
एनसीबी की टीम ने इस ड्रग रैकेट से जुड़े कई और बड़े लोगों को भी गिरफ्तार किया है. इनमें वैज्ञानिक वेंकट रामा राव, उनकी पत्नी और एक सहयोगी रविशंकर राव को भी ​पकड़ा गया है. वेंकट और उनके सहयोगियों को हैदराबाद में सोमवार को 231 किलो एंफिटेमिन के साथ पकड़ा गया था. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस ड्रग की कीमत 231 करोड़ रुपये है.