नई दिल्ली. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस नेता संजय निरुपम पर तंज कसते हुए कहा है कि कुछ राजनेता पाकिस्तान की भाषा बोलने लगे हैं. उन्होंने कहा, ‘हमने देखा कुछ राजनेता पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं.’
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
नायडू ने कहा कि पाकिस्तान की भाषा बोलने वाले नेताओं को इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं है कि उनकी तरफ से दिए गए बयानों का क्या परिणाम होगा और उनके बयानों से साफ पता चलता है कि उन्हें हमारे जवानों पर भरोसा नहीं है.
 
 
केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘भारत अपने पड़ोसियों के साथ रिश्तों में शांति चाहता है, लेकिन पाकिस्तान जो काम कर रहा है वह पूरा विश्व देख रहा है. पूरा विश्व जानता है कि लादेन और दाउद को किसने पनाह दी?’
 
 
नायडू ने आतंकवाद से लड़ने के लिए पूरे देश को एकजुट रहने की बात कही. उन्होंने कहा कि भारत को एकजुट रहने की जरूरत है, अपने जवानों से आतंकवाद के खिलाफ किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगना सही नहीं है.
 
देवेन्द्र फडणवीस भी बोले
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने कहा है पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने सर्जिकल स्ट्राइक होने से इंकार करने के पहले इसकी निंदा की थी. अगर हमारे ही नेता पाकिस्तान की तरह बोलने लगेंगे तो यह हमारे जवानों का अपमान होगा.
 
क्या है मामला ?
बता दें कि केजरीवाल ने कहा था कि पाकिस्तान की मीडिया का मुंह बंद करने के लिए भारत को सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सामने लाना चाहिए. वहीं संजय निरुपम ने इस ऑपरेशन को फर्जी बताया था.