नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में भारत इंटरनेशनल टूरिज्म बाजार संबंधी कार्यक्रम के दौरान जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती भाषण के बीच में ही अपने पिता और J&K के पूर्व सीएम मुफ्ती मोहम्मद सईद को याद कर रो पड़ीं. महबूबा कश्मीर पर्यटन के एक विज्ञापन में अपने पिता की आवाज सुन कर भावुक हो गईं थीं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
महबूबा ने कार्यक्रम में कश्मीर के पर्यटन और वहां के वातावरण पर बात करते हुए कहा कि विश्व के किसी भी हिस्से की अपेक्षा, चाहे वह दिल्ली ही क्यों ने हो, महिलाएं कश्मीर में सबसे ज्यादा सुरक्षित महसूस करती हैं. उन्होंने कहा कि कश्मीर में महिलाओं को इस बात का डर नहीं है कि कार में उनका रेप हो सकता है. 
 
जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में कहा, ‘अगर आप कश्मीर घूमने आएंगे तो यह दर्शएगा कि आप हम पर भरोसा करते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘हमें आपकी जरूरत है, मैं नहीं जानती की आपको कश्मीर की जरूरत है या नहीं, लेकिन कश्मीर को है.’
 
महबूबा ने कहा कि भारत के लोग बहुत अच्छे हैं और कश्मीर के लोग भी अच्छे हैं. उन्होंने कहा, ‘हालत तो आपने इससे भी ज्यादा खराब देखे हैं, लेकिन आप कश्मीर जरूर आइयेगा और शांति में सहयोग करियेगा.’ बता दें कि महबूबा ने अपने भाषण में कपिल मिश्रा की ओर से पूछे गए किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया.
 
दरअसल इस कार्यक्रम में महबूबा के भाषण के पहले दिल्ली सरकार के मंत्री कपिल मिश्रा ने महबूबा मुफ्ती पर जोरदार तंज कसा था. उन्होंने पूछा था कि क्या वे हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को आतंकी मानती हैं या नहीं? कपिल के भाषण के दौरान हंगामा भी हो गया था.