नई दिल्ली.  सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत अब बड़े पैमाने में कवर्ट स्ट्राइक की तैयारी कर रहा है. केंद्र सरकार ने इसके लिए एजेंसियों को जल्द ही छूट दे सकती है. 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
मोदी सरकार के इस फैसले पर अब इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि भारत की विदेश नीति खासतौर पर पाकिस्तान के खिलाफ नीति बेहद आक्रमक हो गई है.
क्या है कवर्ट स्ट्राइक
दरअसल इस तरह के ऑपरेशन बेहद गुप्त तरीके से निपटाए जाते हैं. इसमें टारगेट को पहले तय किया जाता है. फिर एजेंट जो कि बेहद खतरनाक कमांडो भी हो सकते हैं वह काम निपटाने के बाद चुपचापर निकल जाते हैं. खास बात यह होती है कि इन हमलों में देश जिम्मेदारी भी नहीं लेता है. अभी तक इस तरह की स्ट्राइक इजरायल की एजेंसियां चलाती रही हैं. इसमें पूरी दुनिया में दुश्मनों को खोज-खोज कर मारा जाता है. 
क्यों जरुरी है कवर्ट स्ट्राइक
इस बात के पक्के सबूत हैं कि पाकिस्तान ने भारत के अंदर आतंक और अस्थिरता फैलाने के लिए अच्छा-खासा निवेश कर रखा है. इस नेटवर्क को तबाह करने के लिए भारत को अब बड़े पैमाने पर इस तरह की स्ट्राइक करनी होगी. 
एजेंसियों ने कर रखी है पूरी तैयारी
सीमा पर हुए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत की एजेंसियों ने पूरी तरह से तैयारी कर रखी है. सभी एजेंसियों को विश्वास है कि सरकार उन्हें इन अभियानों की मंजूरी देगी. अधिकारियों का दावा है कि पाकिस्तान के भीतर छिपे आतंक के आकाओं के खिलाफ ऐसी कार्रवाई की जरूरत है. इसके लिए राजनीतिक इच्छा शक्ति दिखानी होगी. लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक की मंजूरी देगी केंद्र ने इस बार अपने इरादे जाहिर कर दिए हैं.
अंतिम समय में बदल गया था दाउद को मारने का प्लान
मीडिया में आई खबरों के मुताबिक तीन साल पहले भारतीय एजेंसियों के एजेंटों ने पाकिस्तान में छिपे दाउद इब्राहिम को मारने का पूरा प्लान बना लिया था. इसके लिए 7 एजेंट पाकिस्तान पहुंच भी गए थे लेकिन ऐन वक्त पर प्लान को बदल दिया गया. 
पाकिस्तानी मीडिया में हड़कंप
सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी मीडिया में इस बात को लेकर चर्चा है कि भारत उनके देश में कवर्ट स्ट्राइक की तैयारी कर रहा है.  कई अखबारों में लिखा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने रॉ के अधिकारियों से कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक की तरह वह पाकिस्तान में कवर्ट स्ट्राइक भी करें.
जियो टीवी हवाले के खबर
पाकिस्तान के न्यूज चैनन जियो टीवी ने अपनी वेबसाइट में लिखा है कि भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी खूफिया एजेंसी रॉ से कहा है कि वह आईएसआई के ऑफिस को निशाना बनाएं और हाफिज सईद और मसूद अजहर को मारने का प्लान बनाएं