नई दिल्‍ली. उरी आतंकी हमले और इसके बाद किए गए पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक के कारण भारत और पाकिस्‍तान के बीच बढ़ते तनाव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारत ने कभी किसी दूसरे देश पर हमला नहीं किया है. न किसी के क्षेत्र पर आज तक कब्‍जा करने का प्रयास किया है. हम दूसरों के लिए बलिदान देते हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अप्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह देश कभी भी दूसरे की जमीन का भूखा नहीं रहा और न ही हमने कभी भी किसी दूसरे देश पर हमला नहीं किया है. उन्होंने कहा कि हम दूसरों के लिए बलिदान देते हैं. हमारे डेढ़ लाख से ज्यादा जवान पहले और दूसरे विश्‍वयुद्ध में शहीद हो गए हैं. दुर्भाग्‍य से हम इसे बात को प्रभावी तरीके से दुनिया के सामने नहीं रख सके.
 
 
गांधी जयंती के मौके पर भारतीय मूल के लोगों की सुविधा के लिए प्रवासी भारतीय केंद्र का शुभारंभ करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने दूसरों के लिए लड़ाई भी लड़ी हैं. भारत एक ऐसा देश है जिसने दूसरों के लिए अपना जीवन समर्पित किया है. 
 
पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पास दुनिया को देने के लिए बहुत कुछ है. उन्होंने कहा कि दुनिया के 150 देशों में भारतीय प्रवासी रहते है. यदि हम चाहे तो ब्रेन ड्रेन को ब्रेन गेन में बदल सकते है. उन्होंने आगे कहा कि हमें सिर्फ संख्या के आधार पर नहीं, बल्कि शक्ति के तौर पर देखना चाहिए. भारतीयों ने हर क्षेत्र में अपने देश का नाम रोशन किया है.  
 
2 अक्टूबर को देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का भी जन्म हुआ था. प्रधानमंत्री ने उन्हें भी याद किया. उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रवासी भारतीय दिवस की शुरुआत की थी और हम आज इसे आगे बढ़ा रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा दुनिया के लोगो का नज़रिया भारतीयों को लेकर अब बहुत बदल चुका है.