बेंगलुरु. तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच कावेरी नदी के पानी को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. अब पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा भी इसमें कूद पड़े हैं. उन्होंने कर्नाटक के लिए न्याय की मांग करते हुए अनिश्तिकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जनता दल (सेक्युलर) के सुप्रीमो देवगौड़ा ने यहां राज्य सचिवालय में विधान सौध के सामने महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास शनिवार से अनशन शुरू कर दिया है. अनशन शुरू करने से पहले देवगौड़ा ने कहा कि इंसान पानी के सहारे ही जिंदा रह सकते हैं. जनता को न्याय चाहिए. उन्होंने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री पर भरोसा है और वो जल्द ही इस मुद्दे को सुलझाएंगे.
 
दरअसल उच्चतम न्यायालय ने कर्नाटक को 6 अक्टूबर तक तमिलनाडु को कावेरी नदी का 6000 क्यूसेक पानी छोड़ने और केन्द्र से कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड का गठन करने को कहा है. उच्चतम न्यायालय के दिए आदेश के बाद देवगौड़ा ने अचानक यह निर्णय लिया.