नई दिल्ली.  शनिवार को रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान सदमे में है और उसको समझ में नहीं आ रहा है कि वह क्या करे.  भारतीय सेना के जवान बिलकुल हनुमान की तरह हैं जिनको यह नहीं पता था कि उनके पास कितनी ताकत है.
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
लेकिन अब उनको अपनी ताकत का अंदाजा हो गया है. अब इस स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानियों को पता लगा गया है कि भारतीय सेनाओं को भी पता है कि कैसे जवाब दिया जाता है.
उन्होंने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि पाकिस्तान अब भारत की चु्प्पी को कमजोरी न समझे. अगर पाकिस्तान इस तरह की घटिया साजिश जारी रखेगा तो हम उन्हें दोबारा से इससे ज्यादा भयानक और माकूल जवाब देंगे.
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मोदी सरकार के मंत्रियों को सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर ज्यादा बयानबाजी न करने के लिए कहा गया था. वहीं देखने वाली बात होगी यह होगी कि भारत के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के इस बयान पर पाकिस्तान की ओर से क्या प्रतिक्रया आती है.
इस बीच खबर है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात करेंगे और अब तक हुई पूरी घटनाक्रमों और भारत की ओर से उठाए गए कदमों की जानकारी देंगे.
बता दें कि पाकिस्तान की ओर से किसी जवाबी प्रतिक्रिया के मद्देनजर सीमा से सटे इलाकों के साथ-साथ पूरा देश हाई अलर्ट पर है. शुक्रवार को ही मोदी सरकार ने कश्मीर और देश में सुरक्षा के हालात पर समीक्षा की थी. ऐहतियात के तौर पर भारत-पाक बॉर्डर के नजदीक के गांवों को खाली भी करा लिया गया है.
लश्कर-ए-तैयबा के थे आतंकी
बता दें कि भारतीय सेना ने बुधवार रात 12.30 बजे से 4.30 बजे तक यह ऑपरेशन चलाया गया.  सेना ने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देते हुए 7 आतंकी शिविरों को ध्वस्त कर दिया, साथ ही 50 आतंकियों को भी मार गिराया. जिनमें पाकिस्तानी सैनिक भी शामिल हैं.  सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ये आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे.
25 स्पेशल कमांडोज ने पूरा किया ऑपरेशन
ये ऑपरेशन भारत के 25 स्पेशल कमांडोज ने पूरा किया था. इन कमांडो ने लीपा, केल, टट्टापानी और भिंबेर के पास बने लॉन्च पैडों को निशाना बनाया. भारतीय सेना ने अलग-अलग जगहों पर  एक ही समय में बने 3 कैंपों का खात्मा किया. रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, एनएसए अजीत डोभाल, सेना प्रमुख और डीजीएमओ ने पूरी रात सर्जिकल ऑपरेशन को मॉनीटर किया.
 
 
सर्जिकल स्ट्राइक में सेना गुपचुप तरीके से सीमा के पार जाकर ऑपरेशन को अंजाम देती है. अमेरिका ने आतंकी ओसामा बिन लादेन को भी ऐसे ही मारा था.