नई दिल्ली. पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकी कैंपों पर की गई कमांडो के कार्रवाई के बाद से पूरे देश में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. आईबी से मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान कोई सीधा हमला करने के बजाए आतंकवादियों का इस्तेमाल कर सकता है.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

गृह मंत्रालय की ओर से बीएसएफ को साफ निर्देश दिया गया है कि अगर सीमा पार से कोई फायरिंग या हरकत होती है तो उसका तगड़ा जवाब दिया जाए. वहीं जम्मू-कश्मीर सीमा पर बीएसएफ की दो बटालियन और तैनात कर दी गई हैं.

अक्टूबर में है खतरा
आईबी से जुड़े एक अधिकारी कहना है कि अक्टूबर का महीना त्योहारों का है. इस लिहाज से सीमा से जुड़े राज्य गुजरात, राजस्थान, पंजाब और जम्मू-कश्मीर बेहद सतर्कता बरतनी होगी. उनका कहना है कि महानगरों में भी पाकिस्तान आतंकियों का इस्तेमाल कर सकता है. 

अखबार इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक अधिकारी ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि इस साल 80-90 आतंकवादी सीमा पार से अंदर घुसे हैं. 

जवाबी कार्रवाई की पूरी छूट
वहीं गृह मंत्रालय की ओर से बीएसएफ को साफ कहा गया है कि सीमा पार से कोई भी हरकत होती है तो उसका तगड़ा जवाब देना है लेकिन इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि हमें अपनी ओर से इसकी पहल नहीं करनी है.