नई दिल्ली. भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत का अगला कदम क्या है इसी पर पूरे भारत में चर्चा है. भारत पाकिस्‍तान को अलग-थलग करने के लिए कूटनीतिक और आर्थिक उपायों पर भी विचार कर रहा है. बता दें कि पाकिस्‍तान आकार में भारत का पांचवां हिस्‍सा है जबकि हमारी अर्थव्‍यवस्‍था के सातवें हिस्‍से के बराबर उसकी अर्थव्‍यवस्‍था है.  
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एक सुरक्षा अधिकारी ने अपना नाम उजागर न करने पर बताया कि भारत का नया रुख रक्षात्‍मक के बजाय और भी आक्रामक होगा.  भारत इसके तहत पाकिस्‍तान की अर्थवस्‍था उसकी आंतरिक सुरक्षा और अंतरराष्‍ट्रीय छवि को भी उजागर करते हुए उसे एक अस्थिर और आतंकी देश घोषित करने पर जोर देगा.
 
 
इसके साथ ही भारत पाकिस्‍तान के साथ व्‍यापार को खत्‍म करने के विकल्‍प पर भी विचार कर रहा है. यह व्‍यापार संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) जैसे तीसरे देश के के जरिए भी हो रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पाकिस्‍तान को अलग-थलग करने के यह उपाय कांग्रेस सरकार की तुलना में अधिक आक्रामक भर है हालांकि विशेषज्ञों ने अपनी राय दी है कि इस कदम से भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव और ज्यादा बढ़ सकता है.