नई दिल्ली. पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर स्थित सेना के बिग्रेड मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले में शहीद जवानों की संख्या बढ़कर 19 हो गई है. दरअसल, हमले में घायल एक और जवान ने दिल्ली के आर्मी अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली.
 
ख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रिपोर्ट्स के अनुसार, राजकिशोर उरी के 6 बिहार रेजिमेंट में लांस नायक के पद पर तैनात शहीद थे. शहीद जवान राजकिशोर सिंह को हमले के दौरान उनके सीने और पैर में गोलिया लगी थीं, इसके बाद उनका इलाज पहले कश्मीर में कराया गया, फिर उन्हें दिल्ली के आर्मी अस्पताल में रेफर करा दिया गया था, तभी से उनका इलाज वहां चल रहा था. जहां शुक्रवार को वह इलाज के दौरान जिंदगी से लड़ते हुए शहीद हो गए. बिहार सरकार ने उनके परिवार को 11 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है. 
 
 
राजकिशोर भोजपुर के बड़हरा स्थित पीपरपांती गांव के रहने वाले थे. राजकिशोर के परिवार में उनकी मां, दो बड़े भाई, उनकी पत्नी समेत दो बच्चे हैं. राजकिशोर की शहादत की खबर सुनने के बाद उनके परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है. बता दें कि उरी हमले में शहीद होने वाले जवानों में सबसे ज्यादा संख्या बिहार के जवानों की है.