नई दिल्ली. बीती रात पाकिस्तान की सीमा पर सटे इलाके में भारतीय सेना की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भी जानकारी दे दी गई थी.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

ऐसा पहली बार हुआ है जब पाकिस्तान की सीमा पर भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक जैसा ऑपरेशन किया है. आज कैबिनेट की सुरक्षा मामलों की समिति की बैठक के बाद सैन्य अभियान के डीजी लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने विदेश मंत्रालय के साथ हुई संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में इस बात की जानकारी दी है.

मिली जानकारी के मुताबिक भारतीय सेना को इस बात के सबूत मिले थे कि सीमा पार से आतंकवादी भारत में हमले करने का फिराक मे हैं.

इसके बाद सीमा से लेकर दिल्ली तक प्लान बनाया गया. इस पूरे अभियान की निगरानी खुद, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह कर रहे थे.

सूत्रों ने बताया है कि बुधवार को कोस्टगार्ड के साथ एनएसए अजीत डोभाल के डिनर का कार्यक्रम था लेकिन उसको उन्होंने कैंसिल कर दिया है.

वहीं इस हमले का असर शेयर बाजारों पर भी देखा जा रहा है. उसमें गिरावट दर्ज की गई है.