नई दिल्ली. भारतीय सेना ने बीती रात राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग की निगरानी में पाकिस्तान में घुसकर कई आतंकियों को मार गराया है. यह ऑपरेशन बुधवार की रात 2.30 बजे से सुबह के बीच हुआ. इस ऑपरेशन में आतंकियों के 4 कैंपों को तबाह कर दिया गया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस ऑपरेशन की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भी दी थी. साथ ही ऑपरेशन की जानकारी जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल और मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ्ती को भी दी गई है. सर्जिकल स्ट्राइक के लिए रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और अजीत डोभाल ने मुंबई में कोस्टगार्ड के साथ होने वाली डिनर को भी कैंसिल कर दिया था.
 
पाकिस्तान ने सर्जिकल स्ट्राइक की बात कूबूली
वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी इस सर्जिकल स्ट्राइक की बात कबूल की है. हालांकि शरीफ ने भारतीय सेना के इस ऑपरेशन की कड़ी निंदा भी की है.
 
कल रात हुआ हमला
बता दें कि कल रात जम्मू कश्मीर में सेना ने पहली बार कमान अपने हाथो में लेते हुए पाकिस्तान सीमा के भीतर घुस कर LOC पर जमा आतंकियों और पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया है. सेना के DGMO रणवीर सिंह ने बताया कि 11 और 18 सितंबर को घुसपैठ कीकोशिश हुई उरी और पुंछ के बाद 20 घुसपीठ की कोशिश हुई थी जिनमें पाकिस्तानी मार्का का सामान आतंकियों से मिला है जिनमें ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम भी थे. यह साफ जाहिर करते है आतंकी पाकिस्तानी है.
 
सेना ने पाकिस्तानी नागरिक और आतंकवादी जिन्दा भी पकड़े गए हैं उन्होंने स्वीकार किया है कि उनको पाकिस्तान में प्रशिक्षण दिया था वही के रहने वाले है. हमने पाकिस्तान को बता दिया है. 2004 जनवरी में हुए समझोते के तहत अपनी जमीं का उपयोग पाकिस्तान नहीं कर सकता फिर भी घटनायें बढ़ रही हैं. कल रात विश्वस्त जानकारी के बाद सेना ने एनएसए अजीत डोभाल के नेतृत्व में यह ऑपरेशन किया. इस ऑपरेशन में कई आतंकवादी मरे गए है इसके बाद यह ऑपरेशन ख़त्म कर दिया गया है.