मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने राज्य में जारी मराठा आंदोलन का समर्थन किया है. चव्हाण ने इंडिया न्यूज़ से बातचीत में आंदोलन का समर्थन किया है. बता दें कि चव्हाण खुद कांग्रेस के बड़े मराठा नेता हैं.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि महाराष्ट्र में मराठा कम्युनिटी आरक्षण की मांग कर रही है, जिसके लिए आंदोलन भी चलाया जा रहा है. महाराष्ट्र के 10 जिलों में यह आंदोलन फैल चुका है. औरंगाबाद से इसकी शुरुआत हुई थी और अब यह अमरावती, सतारा, पुणे, नासिक, नवी मुंबई, पुणे, अहमदनगर, बीड और उस्मानाबाद तक फैल चुका है. इसने काफी बड़ा रूप ले लिया है.
 
आंदोलनकारियों की मांग
 
इस आंदोलन का कोई मुख्य लीडर नहीं है. हर शहर में कुछ लोकल लोग ही इस आंदोलन की कमान संभाले हुए है. मराठा कम्युनिटी की मांग है कि आर्थिक और सामाजिक रूप से पिछड़े मराठाओं को आरक्षण मिले. 
 
लोगों का आरोप है कि एट्रोसिटी कानून का सबसे ज्यादा गलत इस्तेमाल मराठाओं के खिलाफ ही किया जाता है इसीलिए इसे रद्द किया जाए. आंदोलनकारियों की मांग है कि कोपार्डी रेप कांड के आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए.