मुंबई. उरी हमले के बाद पाकिस्तानी कलाकारों के भारत में रहने का मामला बढ़ता जा रहा है. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) की धमकी के बाद पाकिस्तानी कलाकार वापस लौट रहे हैं. उधर एमएनएस के कार्यकर्ताओं ने करण जौहर के ​आॅफिस के बाहर प्रदर्शन किया था. वे फवाद खान की पाकिस्तान वापसी की मांग कर रहे थे. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अब इस मामले को संभालने के लिए सलमान खान मैदान में उतर आए हैं. उन्होंने राज ठाकरे को रात को घर बुलाकर इस बारे में मीटिंग की है. उनकी मीटिंग के बाद उम्मीद है कि एमएनएस कार्यकर्ता काबू में आ जाएंगे. 
 
हालांंकि, हंगामे के बाद फवाद खान मंगलवार को ही पाकिस्तान लौट गए हैं. इससे पहले करण जौहर ने उन्हें फिल्म के प्रमोशन में मौजूद रहने से मना कर दिया था. फिल्म इंडस्ट्री पाकिस्तानी कलाकारों का कहीं न कहीं समर्थन कर रही है.
 
सैफ अली खान का समर्थन
अभिनेता सैफ अली खान ने एमएनएस की धमकी को समर्थन देने के सवाल पर कहा है कि प्रतिभाओं को बढ़ावा देना चाहिए. हमारी फिल्म इंडस्ट्री पूरी दुनिया के लिए खुली है और दुनियाभर खासकर की सीमा पार से प्रतिभाओं का स्वागत करती है. हम कलाकार हैं, जो प्यार और शांति का संदेश देते हैं. हालांकि पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफ्रीदी ने एमएनएस की धमकी का समर्थन किया है. 
 
उरी हमले पर पाकिस्तान को लेकर लोगों में व्यापत गुस्से के बीच एमएनएस ने पाकिस्तानी कलाकारों को 48 घंटों के अंदर भारत छोड़ने की धमकी दी थी. मनसे ने कहा था कि अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें धक्के मारकर निकाल दिया जाएगा. ये 48 घंटे 25 सितंबर को पूरे हो गए हैं.