सीतापुर. सीतापुर में रोड शो के दौरान जूता फेंके जाने की घटना पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने  बीजेपी- आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंं सेवक संघ) पर निशाना साधा है. उनका कहना है कि वह इन घटनाओं से डरने वाले नहीं है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने कहा, ‘मैं बस में जा रहा था तभी एक जूता मेरे ऊपर फेंका गया. वह मुझे नहीं लगा. मैं बीजेपी और आरएसएस से कहना चाहता हूं कि वह कितने भी जूते मेरे ऊपर फेंक लें लेकिन अब मैं पीछे हटने वाला नही हूं. मैं आप लोगों से डरता नहीं हूं. मैं प्यार और सद्भवना पर विश्वास करता रहुंगा और तुमसे मुझसे नफरत कर सकते हो’. कांग्रेस के उपाध्यक्ष ने य़ह बात रोड शो के बाद हुई एक रैली में कही. 
 
गौरतलब है कि लखनऊ से 85 किमी दूर सीतापुर में जब राहुल गांधी रोड शो कर रहे थे तभी उनके ऊपर जूता फेंकने की घटना सामने आई थी. इस पूरे मामले का वीडियो न्यूज चैनलों के कैमरे में भी कैद हो गया. 
 
वहीं इस घटना पर कांग्रेस ने कड़ी निंदा की है. कांग्रेस प्रवक्ता अभिेषेक मनु सिंघनी ने दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आरएसएस और भाजपा समझ ले कि राहुल गांधी को डराया-धमकाया नहीं जा सकता है. अगर कोई ऐसा समझता है तो यह उनकी भूल है.
 
बीजेपी का जवाब
इस घटना के पीछे आरएसएस और भाजपा का हाथ बताए जाने पर पार्टी के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि कांग्रेस गिरी हुई राजनीत कर रही है. राहुल गांधी की यात्रा विफल हो गई है जिससे कांग्रेस गिरा हुआ बयान दे रही है. कांग्रेस को अब हर चीज में अब भाजपा-आरएसएस ही दिखाई देती है.
 
जूता फेंकने वाला है कथित पत्रकार
राहुल गांधी पर जूता फेंकने वाला शख्स ने खुद को पत्रकार बताया है. उसका कहना था कि कांग्रेस ने देश में 60 साल शासन कर बर्बाद कर दिया है. उसने कहा कि वह जनता है कि यह (कांग्रेस) लोग जब सत्ता में थे तो क्या कर रहे थे.  फिलहाल उसे घटना के बाद से ही हिरासत में ले लिया गया है.