उधमपुर. जम्मू और कश्मीर के उरी सेक्टर में सुरक्षाबलों ने दो संदिग्ध लोगों को पकड़ा है. सेना का कहना है कि दोनों लोग आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के लिए गाइड का काम करते थे. दोनों आतंकियों को भारत में घुसने में मदद करते थे. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पकड़े गए दोनों ही लड़के पाक अधिकृत कश्मीर के रहने वाले हैं. इनकी उम्र 15-16 साल के बीच है. इन्हें उरी सेक्टर से गिरफ्तार किया गया है. आर्मी के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि पकड़े गए लोगों की पहचान अहसान खुर्शीद और फैसल के तौर पर हुई है. 
 
उन्होंंने बताया कि खुर्शीद पीओके के खलीना कलां में रहता है और फैसल पुत्था जानगीर का रहने वाला है. दोनों को आर्मी और बीएसफ ने मिलकर 21 सितंबर को पकड़ा था. कर्नल कालिया ने बताया कि पीओके में रहने वाले इन दोनों लड़कों को दो साल पहले ही भर्ती किया गया है. 
 
12 से 18 आतंकियों को कराई घुसपैठ
हालांकि, सेना का यह भी कहना है कि दोनों लड़कों की उरी हमले में कोई भूमिका नहीं है.  इन दोनों ने 12 से 18 आतंकियों को भारत में घुसपैठ कराई. अब सेना और बीएसएफ मिलकर इनसे पूछताछ कर रहे हैं. 
 
जम्मू-कश्मीर के अखनूर में भी शुक्रवार को एक शख्स को सीमा पार से घुसपैठ की कोशिश करते पकड़ा गया था। उसका नाम अब्दुल कयूम है. उससे पूछताछ के बाद कई बातें सामने आईं. उसने कबूल किया था कि उसे पाकिस्तान में सेना का प्रशिक्षण दिया गया था.