नई दिल्ली. राजनीतिक विचारक और भारतीय जनसंघ के पूर्व अध्यक्ष पं. दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें नमन किया हैं. पं. दीनदयाल उपाध्याय का जन्म आज ही के दिन मथुरा के एक छोटे से गांव ‘नगला चंद्रभान’ में हुआ था, यह वर्ष उनका जन्मशताब्दी वर्ष हैं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करके कहा, “पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जन्म जयंती पर उनको शत् शत् नमन। We salute our inspiration, Pandit Deendayal Upadhyaya on his birth anniversary.” कालीकट में चल रही बीजेपी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक का आज आखरी दिन है जहां पं. दीनदयाल उपाध्याय को उनके जन्मदिवस पर श्रद्धांजलि दी जाएगी। दरअसल 1967 में उन्हें कालीकट में ही जनसंघ का अध्यक्ष चुना गया था. 
 
जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने एक बार उनके लिए कहा था, “अगर मेरे पास दो दीनदयाल होते तो मैं भारत का राजनीतिक चेहरा बदल के रख देता.” कानपुर में उच्च शिक्षा के दौरान वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े और उत्तर प्रदेश में संघ के सह प्रांतप्रचारक भी रहे. उन्होंने जनसंघ के टिकट पर उत्तर प्रदेश से लोक सभा का चुनाव भी लड़ा पर चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा. 11 फरवरी 1968 को मुग़लसराय रेलवे स्टेशन पर उनकी रहस्यमयी परिस्थितियों में हत्या कर दी गयी.