नई दिल्ली. पाकिस्तान की पोल एक बार फिर खुल गई है. दरअसल, सेना ने घुसपैठ कर रहे एक आतंकी को पकड़ा है. पूछताछ के दौरान आतंकी अब्दुल कय्यूम ने बताया कि उसे पाकिस्तान के ट्रेनिंग कैंप में ट्रेनिंग दी गई है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रिपोर्ट्स के अनुसार आतंकी कय्यूम घूसपैठ के दौरान बाड़ पार करते वक्त करंट लगने से बेहोश हो गया था. वहीं अलार्म बजने से 4 आतंकी मौके से भाग निकले. पहले तो कय्याम ने खुद को पागल बताया था. लेकिन बाद में जमात उल दावा का आतंकी होने की बात कबूल ली है.  
 
कय्यूम ने बताया कि वह पाकिस्तान के सियालकोट का रहने वाला है. कय्यूम ने  2004 में  मानसेरा में ट्रेनिंग ली है. उसने बताया मानसेरा में अबू बकर मरकज नाम का एक ट्रेनिंग कैंप है. जहां उसे छोटी ट्रेनिंगह दी गई थी. इसके अलावा उसे हाफिज सईद के कैंप में भी ट्रेनिंग ली थी. कय्याम ने बताया कि मुरीदके में जमात उल दावा का ट्रेनिंग हेडक्वार्टर है.