नई दिल्ली. सहारा के वकील कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट से जेल भेजने का आदेश वापस लेने की मांग की है. सिब्बल ने कोर्ट को फैसले पर दोबारा विचार करने को भी कहा है. इसके अलावा सिब्बल ने नई जमानत अर्जी दाखिल की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इसके अलावा उन्होंने वकील राजीव धवन की गलती पर माफी मांगी है. वहीं कोर्ट ने कहा कि याचिका पर विचार साथी जजों से सलाह करके लिया जाएगा. कोर्ट ने कहा हमें किसी से कोई समस्या नहीं है. हम भी दिन के खत्म होने पर ये सोचते है कि हमारे आदेश से किसी को तकलीफ तो नहीं हुई है. 
 
इसके अलावा कोर्ट ने यह भी कहा कि कोई अगर बहुत अच्छा बोलता है तो इसका मतलब ये नहीं की वो कोर्ट पर हावी हो जाये. हमारी भी सहन की एक क्षमता होती है.
 
बता दें कि इससे पहले शुक्रवार सुबह कोर्ट ने मामले में सुनवाई करते हुए सहारा श्री और कंपनी के दो डायरेक्टर की पैरोल रद्द कर वापस जेल भेज दिया है. जब कोर्ट ने सहारा को कहा कि आप पैरोल को बढ़ाने के लिए 300 करोड़ रुपये और जमा करें तो सहारा की तरफ से कहा गया कि ये रकम हम अभी जमा नहीं कर सकते. मामले की सुनवाई 30 सितम्बर तक टाल दी जाए. इस पर कोर्ट ने सवाल किया कि आप ऐसा कैसे कह सकते है. हम आपकी पैरोल को रद्द करते हैं.