आगरा. दलित युवक को पीटने का एक और मामला सामने आया है. आगरा में 16 साल के एक दलित युवक को 15 उच्च जाति के लोगों ने पेड़ से बांधकर उसकी कोड़ों से पिटाई की. उस लड़के पर भैंस चुराने का आरोप था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बरहान पुलिस स्टेशन के तहत बास केसी गांव में हुई यह घटना बृहस्पतिवार शाम की है. पिटाई के बाद लड़के की हालत खराब है और उसे इलाज के लिए एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया है. 
 
पीड़ित के पिता ने बताया कि उनके बेटे को कुछ लोगों ने घर से उठा लिया था. उन्होंने उस पर भैंस चुराने का आरोप लगाया था लेकिन उन्हें घर में कोई भैंस नहीं मिली. उन लोगों ने आते ही लड़के को थप्पड़ मारे शुरू कर दिए. मां ने कई बार बेटे को छोड़ने की मिन्न्तें भी कीं लेकिन वो लोग नहीं माने. 
 
तीन घंटे बाद पहुंची पुलिस
आरोपी लड़के को उठाकर बास केसी गांव ले गए, जहां उन्होंने उसे पेड़ से बांधा और जब तक वह बेहोश नहीं हो गया तब तक उसे कोड़े मारते रहे. उन्होंने लड़के के गुप्तांगों पर पेट्रोल भी डाला और उसके शरीर में नशीले पदार्थ का इंजेक्शन लगाने की भी कोशिश की. 
 
जब लड़का बेहोश हो गया तो आरोपी उसे छोड़कर चले गए. इसके बाद गांववालों ने उसे बचाया. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पुलिस को खबर मिलने के तीन घंटों के बाद वह घटनास्थल पर पहुंची. पुलिस ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया और पीड़ित को चिकित्सकीय जांच के लिए भेज दिया गया है. मेडिकल रिपोर्ट आ जाने के बाद आरोपियों पर अन्य धाराएं जोड़ी जाएंगी. चार आरोपियों की पहचान कर ली गई है.