नई दिल्ली. उरी में हुए आतंकवादी हमले के बाद सरकार पूरे एक्शन में आ गई है. जहां कूटनीतिक स्तर पर पाकिस्तान के खिलाफ हमला शुरू हो गया है. वहीं सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि सैन्य कार्रवाई की भी तैयारी जोर-शोर से जारी है.
 
ख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सबसे बड़ी बात है कि सारी तैयारियां खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देख-रेख में चल रही हैं. 20 सितंबर को खुद पीएम मोदी ने वार रूम में जाकर सारी जानकारी ली है. उनके साथ पीएम मोदी के साथ एनएसए अजीत डोभाल, सेन प्रमुख दलबीर सुहाग, वायु सेना प्रमुख अरुण साहा और नौसेना प्रमुख सुनील लांबा भी मौजूद थे. 
 
दिया गया प्रजेंटेशन
प्रधानमंत्री के सामने वार रूम में पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन रखा गया था. पाकिस्तान में बने आतंकी कैंपो को दर्शाने के लिए टेबल पर रेत के बने मॉडल रखे गए थे. पीएम को समझाया गया कि कैसे इन आतंकी कैपों को ध्वस्त किया जा सकता है.
 
सकते में पाकिस्तान
भारत की ओर से चल रहीं इस स्तर की तैयारियों का असर पाकिस्तान में भी साफ दिख रहा है. पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ पंजाब और जम्मू-कश्मीर की सीमा पर तैनात रेंजर्स की छुट्टी कर दी है. वहीं विंग कमांडर्स को भी रात में तैनात रहने का आदेश दिया गया है. इसके अलावा पीओके के पास से गुजरने वाली फ्लाइट्स को भी रोक दिया है. 
 
सेना ने कहा-हम तैयार हैं
भारतीय सेना की ओर से कहा गया है कि वह जंग के लिए तैयार है. सैन्य अभियानों के महानिदेशक ने कहा ‘हमले का वक्त और जगह हम खुद तय करेंगे’
 
रक्षा मंत्री भी एक्शन में
देश के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा ‘भारत के प्रधानमंत्री ने कहा है कि दोषियों को बख्शने की जरूरत नहीं है तो इसको हल्के में नहीं लेना चाहिए.