नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में आर्मी हेडक्वाटर में हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने कड़ा रुख अपनाते हुए पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब किया है. भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर ने बासित को उरी हमले में पाकिस्तान का हाथ होने के सबूत सौंपे हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रिपोर्ट्स के अनुसार जयशंकर ने बासित को कहा कि उरी में हुए हमले में पाकिस्तान का हाथ है, इससे यह साबित होता है कि पाकिस्तान में अब भी आतंकवाद सक्रीय है. उन्होंने बासित को बताया की आतंकवादियों के पास से जो सामान बरामद हुआ है सब पाकिस्तान मे बना हुआ है.
 
आतंकियों का ब्लड सैंपल दे पाकिस्तान
 
विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान से कहा है कि अगर वह हमले की जांच का इच्छुक है तो आंतकियों के ब्लड सैंपल और डीएनए देने होंगे.
 
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा है कि पाकिस्तान को अपनी धरती का इस्तेमाल भारत के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों के लिए नहीं होने देना चाहिए.
 
विकास स्वरूप ने कहा कि उरी हमले में मारे गए आतंकियों के पास से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया गया था और सभी सामान पाकिस्तान में ही बना था. उन्होंने कहा कि इस साल की शुरूआत में भी पठानकोट एयरबेस में हमला हुआ था, लगातार हमले किए जा रहे हैं, आंतकवादी लगातार एलओसी क्रॉस कर रहे हैं.