दिल्ली. आम आदमी पार्टी से निष्कासित विधायक देवेंद्र शेहरावत ने न्याय भूमि नामक संस्था के साथ मिलकर राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग में ओला-उबर के खिलाफ एक याचिका दायर की है. इस याचिका में सर्ज प्राइसिंग के दौरान उपभोक्ताओं से लिए 9239 करोड़ रुपये उन्हें वापस करने की बात कही गयी है. 
 
मंगलवार को प्रेस क्लब में आयोजित एक प्रेस वार्ता के दौरांन उन्होंने दिल्ली सरकार पर जम कर निशाना साधा। उन्होंने कहा की ऑड-इवन लागू रहने के दौरान मुख्यमंत्री अरविंन्द केजरीवाल के निर्देशों पर सर्ज प्राइसिंग करने वाली टैक्सियों पर करवाई की गयी थी. उनके अनुसार परिवहन विभाग पूरी तरह से दिल्ली सरकार के अन्तर्गत आता है. दिल्ली सरकार जान-बुझ कर इन टैक्सी प्रदाता कंपनियों पर कोई करवाई नहीं कर रही हैं.
 
देवेंद्र शेहरावत ने दिल्ली सरकार के उस नोटिफिकेश का भी हवाला दिया जिसमे कहा गया की रेडियो टैक्सी 23 रूपए प्रति किलोमीटर और किफायती टैक्सी 12.50 रूपए प्रति किलोमीटर से ज्यादा किराया नहीं ले सकती है. उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों के दौरान ओला-उबर ने सर्ज प्राइसिंग के नाम पर 9239 करोड़ रूपए ग्राहकों से वसूल किये है जो की उन्हें वापस मिलने चाहिए. इससे पहले पार्टी नेता संजय सिंह पर पंजाब चुनावों में पैसे लेकर टिकेट बेचने के आरोप के लगाने के चलते देवेंद्र शेहरावत को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था.