नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर स्थित आर्मी हेडक्वॉर्टर पर हुए आतंकी हमले की विश्व के कई देशों ने कड़ी निंदा की है. हमले के बाद जहां अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र ने अपनी सहानुभूति दिखाई है तो वहीं ज्यादातर मामलों में भारत का साथ देने वाला देश रूस भी एक बार फिर सामने आया है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हमले के बाद रूस ने भारत का साथ देते हुए कई अहम फैसले किए हैं जिनसे पाकिस्तान को जोरदार झटका लगा है. रूस ने पीओके में पाकिस्तान के साथ सैन्य अभ्यास करने से मना कर दिया है और साथ ही साथ पाक को एमआई-35 विमान देने से भी इनकार कर दिया है. रुस के इस फैसले से भारत की पाक को अलग-थलग करने की मुहीम रंग लाती दिख रही है.
 
 
हमले के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान की कड़ी निंदा करते हुए कहा था कि पाकिस्तान एक आतंकवादी देश है इसे अब विश्व समुदाय से अलग-थलग कर देना चाहिए. 
 
बता दें कि रविवार की सुबह करीब 5.30 बजे 4 आतंकी ने LOC में तार काटकर जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर स्थित आर्मी हेडक्वॉर्टर पर हमला किया था. जवाब में सेना ने मोर्चा संभाला. दोनों ओर से करीब चार घंटे गोलीबारी हुई. हमले में 20 जवान शहीद हो गए और 4 आतंकियों को मार गिराया गया.