श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने उरी सेक्टर स्थित आर्मी हेडक्वॉर्टर पर हुए आतंकी हमले की निंदा तो की ही है साथ में यह भी कहा है कि टैंट में आग लगने की वजह से जवानों की मौत बेहद शर्मनाक है. उमर ने ट्वीट करके इस हमले पर अपनी संवेदना व्यक्त की.

ख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

 
उन्होंने कहा कि आतंकी हमले के पीछे किसका हाथ है यह पता लगाना तो जरूरी है ही लेकिन साथ में यह बात भी शर्मनाक है कि कुछ जवानों की मौत टैंट में आग लगने की वजह से हुई. 
 
उन्होंने कहा, ‘यह बात बिल्कुल सही है कि 17 में से 13 जवानों की मौत आग की वजह से हुई और यह हमारे लिए बिल्कुल शर्म की बात है.’
 
 
जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम ने कहा है कि हमें हमारे जवानों का मूल्य नहीं पता है. उन्होंने कहा, ‘गंदगी को साफ किया जाएगा, सभागारों को मॉर्डन बनाया जाएगा, अधिकारियों को आरामदायक क्वार्टर दिए जाएंगे लेकिन जवानों का मूल्य कभी नहीं समझा जाएगा.’
 
 
उन्होंने कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि हम हमारे जवानों को सबसे अच्छी सुविधाएं मुहैया कराएं क्योंकि वह हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान की कुर्बानी दे देते हैं.
 
बता दें कि आज सुबह करीब 5.30 बजे 4 आतंकी ने LOC में तार काटकर जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर स्थित आर्मी हेडक्वॉर्टर पर हमला किया था. जवाब में सेना ने मोर्चा संभाला. दोनों ओर से करीब चार घंटे गोलीबारी हुई.
 
हमले में 17 जवान शहीद हो गए हैं और 4 आतंकियों को मार गिराया गया है. 18 जवानों के घायल होने की खबर है. बताया जा रहा है कि 17 में से 15 जवान बिहार रेजिमेंट के हैं.