नई दिल्ली.  उरी में सेना के बिग्रेड मुख्यालय में हुए आतंकी  हमले पर अपने आवास में बुलाई आपात बैठक के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि हमें दुख है कि पाकिस्तान आतंकवाद और आतंकी समूह का लगातार  सीधा समर्थन कर रहा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गृहमंत्री ने बताया कि उरी में हमला करने आए आतंकियों को प्रशिक्षित किया गया था उनके पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं. 
 
पाकिस्तान की कड़ी निंदा करते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को अब एक आतंकवादी देश है इसे विश्व समुदाय से अलग-थलग कर देना चाहिए. 
 
आपको बता दें कि उरी में हुए आतंकी के पीछे पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का हाथ माना जा रहा है. घात लगाकर किए किए इस हमले में भारत के 17 जवान शहीद हो गए हैं जबकि 18 घायल बताए जा रहे हैं.
 
इस हमले पर देश में काफी गुस्सा और दुख है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीद जवानों को सैल्यूट करते हुए कहा है कि देश में हमेशा आपकी सेवाओं को याद रखेगा. उन्होंने कहा कि इस हमले के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.
 
अमरिका ने भी की निंदा 
इस हमले की निंदा अमेरिका ने भी निंदा की है. भारत में अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा ने कहा कि हम शहीदों के परिवारों के साथ हैं. हम इसकी घटना की कड़ी निंदा करते हैं.