उरी. जम्मू- कश्मीर के  उरी सेक्टर में हुए आंतकी हमले  से 17 सैनिकों के शहीद हो गए है. दो दशकों में हुए आंतकी हमले को देखते हुए इसे सबसे भयानक हमला करार दिया गया है. इस हमले में सेना के जवानों ने सभी चार आंतकियों को भी मार गिराया है. सूत्रों के मुताबिक उरी हमले को पाकिस्तान के एक बड़े गेम प्लान के तहत अंजाम दिया गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सरकार से जुड़े सूत्रों ने मीडिया से बातचीत में कहा उरी में हुआ आतंकी हमला पाकिस्तान का गेम प्लान है ताकि कश्मीर मेंअशांति फैलाई जा सके.
 
आपको बता दें कि 8 जुलाई को हिजबुल मुजाहिद्दीन के पोस्टर ब्वाय  बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से कश्मीर घाटी में लगातार हिंसा हो रही है जिसमें अब तक 80 लोग मारे जा चुके हैं जबकि 10 हजार लोग घायल हो गए. घायलों में कई सेना सुरक्षा बल के जवान भी शामिल हैं.
 
सरकार का कहना है कश्मीर जारी हिंसा के पीछे पाकिस्तान का हाथ है. पाकिस्तान सरकार लगातार वहां हो रहे विरोध प्रदर्शनों को हवा दे रही है और उसको ‘आजादी’ का संघर्ष बता रही है. 
 
गौरतलब है कि इस कश्मीर में हुई हिंसा का मामला का संसद में भी उठाया जा चुका है और कश्मीर के लोगों से बातचीत के लिए एक सर्वदलीय प्रतिनिधि मंडल कश्मीर में जा चुका  है लेकिन अभी तक कोई ठोस रास्ता नहीं निकाला जा सका. 
 
फिलहाल इस हमले को लेकर गृहमंत्री राजनाथ  सिंह के आवास पर एक आपात बैठक बुलाई गई है. अब देखने वाली बात यह होगी कि भारत सरकार की ओर से इस हमले में पर क्या कहा जाता है.