नई दिल्ली. आकाशवाणी ने शुक्रवार को बलूची भाषी लोगों को तोहफा दिया है. आकाशवाणी ने बलूची भाषा में जानकारी देने के लिए मल्टीमीडिया वेबसाइट और मोबाइल ऐप की शुरुआत की है. इसके जरिए अफगानिस्तान, पाकिस्तान और दुनिया के दूसरे कोनो में रहने वाले बलूची भाषी लोग मोबाइल और कंप्यूटर से ही आकाशवाणी को सुन सकते है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
प्रसार भारती के अध्यक्ष ए सूर्य प्रकाश ने इसकी शुरुआत की. उन्होंने कहा कि इसके सहारे आपसी सहयोग से पड़ोस की आवाम तक पहुंचा जा सकता है. रिपोर्टस् के मुताबिक इसे पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में सैन्य दमन पीड़ितों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं से संपर्क बनाने के तौर पर देखा जा रहा है.
 
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में पीओके और बलूचिस्तान का मुद्दा उठाया था. जिसके बाद ही आकाशवाणी ने बलूची भाषा में डिजिटल मंच की शुरुआत की है. जबकि आकाशवाणी साल 1974 से विदेश प्रसारण सेवा के तहत बलूच समाचार का प्रसारण कर रही है.