सीवान. बिहार में आरजेडी के बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन का खौफ इतना ज्यादा है कि उसके जेल से निकलने के बाद से बिहार पुलिस को 20 लोगों की सुरक्षा के लिए सुरक्षागार्ड तैनात करने पड़े. बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में शहाबुद्दीन की जमानत के खिलाफ दायर याचिका में भी इस बात का जिक्र किया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बिहार सरकार ने अपनी याचिका में बाहुबली नेता और सीवान के पूर्व सांसद को आतंक और मुसीबत की तरह बताते हुए कहा है कि शहाबुद्दीन के डर की वजह से अब तक 20 लोगों को सुरक्षा दी गई है, जबकि उसे जेल से निकले हुए अभी कुछ ही दिन हुए हैं.
 
 
बता दें कि पटना हाईकोर्ट से शहाबुद्दीन को तेजाब कांड में चश्मदीद गवाह राजीव रौशन की हत्या के मामले में जमानत मिल गई था. शहाबुद्दीन 11 सितंबर को भागलपुर जेल से बाहर निकला था.
 
 
शहाबुद्दीन के जेल से छूटते ही बिहार सरकार को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा था, जिसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऐलान किया था कि उनकी सरकार जल्द ही शहाबुद्दीन की जमानत के खिलाफ हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने सुप्रीम कोर्ट जाएगी.