लखनऊ . यूपी के सीएम अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के झगड़े सुलझाने लखनऊ पहुंचे  सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं से कहा कि मेरे रहते पार्टी नहीं टूट सकती है. उन्होंने कहा कि अखिलेश, शिवपाल और रामगोपाल में कोई झगड़ा नहीं है. इतना ही नहीं सपा सुप्रीमो ने साफ कहा कि गायत्री प्रसाद प्रजापति और राजतकिशोर के खिलाफ की गई कार्रवाई रद्द की जाएगी और उन्हें मंत्रिमंडल में दोबारा वापस लाया जाएगा.

इसके साथ शिवपाल यादव की ओर से दिए मंत्रिमंडल और पार्टी के सभी पदों से इस्तीफे को भी मुलायम सिंह ने अस्वीकार कर दिया. 

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

मुलायम ने कहा सभी मुद्दों को सुलझा लिया गया है. शिवपाल से अखिलेश मिलने जाएंगे. उन्होंने कहा कि सभी मुद्दों को सुलझा लिया गया है.   पार्टी सुपीमो ने कहा कि हमने जो कहा है कि उन बातों को अखिलेश टालेंगे नहीं. 

मुलायम की हर बात पर वहां मौजूद कार्यकर्ता स्वागत बजाकर तालियां कर रहे थे. मुलायम सिंह यादव ने बार-बार इस बात को जताया कि पार्टी या परिवार में किसी तरह का कोई मतभेद नहीं है.

समाजवादी पार्टी से जुड़ी हर खबर के सीधा अपडेट के लिए क्लिक करें

गायत्री  प्रसाद प्रजापति की मंत्रिमंडल में वापसी पर अखिलेश यादव ने कहा कि नेता जी की हर बात मानी जाएगी. अगर उन्होंने कहा कि प्रजापति को मंत्रिमंडल में दोबारा वापस लेना है तो इस आदेश का पाालन किया जाएगा.

बैठक के बाद रामगोपाल यादव ने कहा कि किसी भी तरह के झगड़े की खबर गलत है, कुछ बातें थीं जिनको सुलझा लिया गया है.

गौरतलब है कि पिछले चार दिनों से गायत्री प्रसाद प्रजापति और राजकिशोर सिंह की मंत्रिमंडल से बर्खास्तगी से लेकर मुख्य सचिव के तबादले जैसे कई मुद्दे थे जिन पर अखिलेश और शिवपाल के बीच तनातनी बढ़ गई थी. देखने वाली बात यह होगी कि मुलायम सिंह के समझाने के बाद यह झगड़ा कहां तक सुलझता है.