मुंबई.  शरद पवार की पार्टी राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता प्रफुल पटेल ने 2014 के लोकसभा चुनाव की हार का ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस खुद तो डूबी और उन्हीं भी ले डूबी. ऑ
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
प्रफुल पटेल का यह बयान इस बात की ओर इशारा करता है कि इस समय एनसीपी और कांग्रेस के बीच किस तरह की तनातनी है. पटेल की ओर से दिए गए इस बयान पर कांग्रेस ने भी प्रतिक्रिया देने में देर नहीं लगाई है. कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सांवत ने कहा कि एनसीपी नेता इस तरह के बयान देते रहते हैं. वह प्रधानमंत्री को खुश रखना चाहते हैं. इनको डर है कि कहीं केंद्र सरकार इनके कृत्यो पर कार्रवाई न शुरू कर दे या फिर कोई और भी कारण हो सकता है.
 
आपको बता दें कि महाराष्ट्र के अकोला में एक रैली को संबोधित करते हुए यूपीए सरकार में मंत्री रह चुके प्रफुल पटेल ने कहा कि कांग्रेस ने पांच सालों के शासन के दौरान जो कुकृत्यों किए हैं उसकी सजा हमारे नेताओ, कार्यकर्ताओं और एनसीपी को भुगतना पड़ा है.
 
पटेल यही नहीं रुके,उन्होंने कहा कि घोटाले वास्तव में कोई घोटाले नहीं थे लेकिन कांग्रेस और पृथ्वीराज चह्वाण जैसे नेताओं ने हमें बदनाम करने की साजिश रची थी. इसके बाद शायराना अंदाज में पटेल ने कांग्रेस पर तगड़ा कटाक्ष कर कहा कि वो खुद तो डूबे और हमें भी ले डूबे.  वहीं अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा कि लेकिन हम डूबेंगे नहीं, हमें तैरना आता है. हम पूरी ताकत के साथ वापसी करेंगे. 
 
स्थानीय निकाय चुनाव के पहले सहयोगी दल की ओर से की गई इस टिप्पणी से कांग्रेस बेहद गुस्से में है. जिसका असर दिल्ली तक दिखाई दिया. कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा है कि हम प्रफुल पटेल के इस बयान की जांच कर रहे हैं. उसके बाद हम इस पर जवाब देंगे.