नई दिल्ली. महिला सुरक्षा की बात करने वाली दिल्ली पुलिस के तमाम दावे खोखले साबित हो रहे हैं. दिल्ली पुलिस की 24 महिला पुलिसकर्मियों ने अपने ही इंचार्ज इंस्पेक्टर पर उत्पीड़न का आरोप लगा कर सनसनी मचा दी है. उत्पीड़न की शिकायत कमिश्नर, डीसीपी से लेकर महिला अपराध सेल और विजिलेंस तक कर दी गई है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आरोपी इंस्पेक्टर दिल्ली के सिविल लाइन इलाके के रसद एंव आपूर्ति विभाग में तैनात है. महिला पुलिसकर्मियों ने आरोप लगाया है कि इंस्पेक्टर उन्हें अभद्र और अश्लील टिप्पणी के अलावा अकेले में मिलने के लिए भी बुलाता था. महिला पुलिसकर्मी के मिलने से मना करने के बाद इंस्पेक्टर उनका शोषण करने लगता था. इंस्पेक्टर महिला पुलिसकर्मियों के कपड़ों पर भी कमेंट किया करता था.
 
जांच के आदेश दिए
शिकायत मिलने के बाद पुलिस आयुक्त आलोक वर्मा ने यौन शोषण जांच कमेटी को जांच के आदेश दिए हैं और जल्द रिपोर्ट सौंपने को कहा हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली महिला आयोग में भी शिकायत दर्ज होने के बाद जांच के आदेश दिए गए हैं.
 
गौरतलब है कि 16 दिसंबर 2012 की रेप वारदात के बाद केंद्र सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़े कानून बनाए थे. लेकिन कड़े कानून के बाद भी महिलाओं पर होने वाले अपराधों में कमी नहीं आई है. फिलहाल दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार है. लेकिन केंद्रशासित प्रदेश होने के कारण दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के अंतर्गत काम करती है.