नई दिल्ली. ओखला से आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान ने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है. मुख्यमंत्री को लिए पत्र में अमानतुल्ला खान ने कहा है कि मुझे और मेरे परिवार वालों को झूठे आरोप लगाकर फंसाया जा रहा है और मैं जनता के सवालों का जवाब देते-देते धक गया हूं. बता दें अमानतुल्ला खान ने पार्टी नेता दिलीप पांडे के जरिए अरविंद केजरीवाल को चिट्ठी भेजी है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
क्या लिखा है चिट्ठी में ?
अमानतुल्ला ने केजरीवाल को भेजी चिट्ठी में लिखा है कि जब से मैं दिल्ली विधानसभा में से एक विधायक के तौर पर चुन कर आया हूं तब से बड़ी मेहनत के साथ काम किया है. वक्फ बोर्ड का चेयरमैन बनने के बाद मैंने पुरानी सरकार के कई घोटालों को उजागर किया है. परंतु, कुछ लोगों को मेरी ईमानदारी और लोगों के लिए सेवा भाव पसंद नहीं आ रहा है तथा मेरे ऊपर और मेरे परिवार को तरह-तरह के झूठे आरोप लगाकर फंसाया जा रहा है. मैं जनता को सफाई देते-देते थक गया हूं और अब मेरे सब्र का बांध टूट गया है. मैं सरकार की दी हुई जिम्मदारियों से मुक्त होना चाहता हूं. इसलिए सभी पदों से इस्तीफा दे रहा हूं.
 
 
दरअसल अमानतुल्लाह खान पर वक्फ बोर्ड की नियुक्तियों में भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे थे. शुक्रवार को वक्फ बोर्ड के दफ्तर में ACB की एक टीम भी आई थी. बता दें कि अमनुतल्लाह खान ने ACB में वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन चौधरी मतीन अहमद के खिलाफ शिकायत की थी. उन्होंने शीला सरकार में मंत्री रहे हारून युसूफ पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे.