नई दिल्ली. इन दिनों विवादों में फंसे मुस्लिम धर्म के धार्मिक प्रचारक और उपदेशक जाकिर नाईक को लेकर एक सनसनी खेज खुलासा हुआ हैं. बताया जा रहा है कि जाकिर नाईक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन ने वर्ष 2011 में राजीव गांधी फाउंडेशन को 50 लाख रूपए की डोनेशन दिया था. वहीं आरजीएफ ने सफाई देते हुए कहा है कि पैसा उन्हें नहीं बल्कि उनके साथी संगठन राजीव गांधी चैरीटेबल ट्रस्ट को दिया गया. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस मामले में आईआरएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि कहा कि ऐसे राजीव गांधी फाउंडेशन के अलावा एनजीओ कई संगठनों को पैसा देता है. इतना ही नहीं यह पैसा ऐसे संगठनों को भी दिया जाता है जो लड़कियों की पढ़ाई के लिए सहायता करते हैं. बता दें कि आरजीसीटी को सोनिया गांधी, राहुल गांधी व प्रियंका वाड्रा गांधी द्वारा बनाया गया था. 
 
बता दें कि नाइक पर भड़काऊ भाषण देते हुए मुस्लिम युवाओं को आतंकी गतिविधियों में शामिल होने हेतु उकसाने का आरोप लगा है. दरअसल बांग्लादेश की राजधानी में हमले के बाद जाकिर नाईक पर आरोप लगे थे कि उनके भाषण इस तरह के होते हैं कि युवा भड़क उठते हैं.