हापुड़. अरुणा शानबाग के साथ रेप कर उसको कोमा में पहुंचाने का दोषी सोहनलाल को नौकरी से निकाल दिया गया है. सोहनलाल नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन में सफाई कर्मचारी के पद पर तैनात था. नौकरी से निकालने के बाद एनटीपीसी में उसका प्रवेश बैन कर दिया गया है. खबर है कि अब सोहनलाल को गांव से भी निकालने की तैयारी चल रही है.

इस मुद्दे पर गांव में पंचायत की जाने वाली है. सोहनलाल अरुणा के केस में 7 साल की सजा काटने के बाद यूपी के हापुड़ जिले के परपा गांव में रह रहा था. इससे पहले 42 साल कोमा में रही अरुणा का 18 मई को निधन हो गया था. उसके बाद एक मराठी अखबार ने सोहनलाल का पता लगाया था. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App