नई दिल्ली. मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड और आतंकवादी संगठन जमात उत दावा का प्रमुख हाफिज सईद भारत और अमेरिका की बीच बढ़ती दोस्ती से बौखलाया हुआ है. सईद ने बुधवार को कहा कि भारत और अमेरिका की बीच हुए समझौता चीन और पाकिस्तान के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हाफिज सईद ने इस समझौते को सिर्फ चीन और पाकिस्तान के खिलाफ तक ही नहीं रखा बल्कि इसे पूरे इस्लामी वर्ल्ड से जोड़ते हुए उसके खिलाफ बता दिया. उसने कहा कि ये समझौता पूरे मुस्लिम समाज के खिलाफ है. हाफिज सईद ने कहा कि अमेरिका को चीन से परेशानी है और भारत को पाकिस्तान से, ऐसे में चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे को लेकर दोनों देशों के हित एक हो गए हैं.
 
 
बता दें कि भारत-अमेरिका के बीच लॉजिस्टिक्स एक्सचेंज मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट (LEMOA) यानि सैन्य सामान आदान-प्रदान सहमति समझौते के बाद चीन और पाकिस्तान की मीडिया में कहा गया कि इससे चीन और पाकिस्तान पर असर पड़ेगा. पाक और चीनी मीडिया में कहा गया कि एथिया में चीन के बढ़ते प्रभाव के लिए अमेरिका और भारत ने इस समझौते को अंजाम दिया है.