नई दिल्ली. भारतीय उच्चायुक्त गौतम बंबावले के साथ पाकिस्तान में हुए दुर्व्यवहार पर भारत ने बुधवार को विरोध जताया है. विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को समन भेजा और बंबावले मामले में अपना विरोध दर्ज कराया. बता दें कि मंगलवार को पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त का कार्यक्रम था, जिसे बिना कारण बताए रद्द कर दिया गया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने जानकारी देते हुए कहा कि अब्दुल बासित को समन भेजकर उन्हें भारतीय उच्चायुक्त के साथ बेअदबी के मामले में चिंता व्यक्त करने के लिए बुलाया था. विकास स्वरुप ने आगे बताया कि पाकिस्तान में हमारे जो राजनायिक हैं, उन्हें बिना किसी रुकावट के अपना कामकाज करने दिया जाएगा.
 
बता दें कि जनवरी में पदभार संभालने के बाद यह गौतम बंबावले की पहली कराची यात्रा थी और उन्हें कार्यक्रम रद्द होने के बारे में समारोह से महज आधे घंटे पहले सूचना दी गई थी. बंबावले को इस कार्यक्रम का न्योता कुछ सप्ताह पहले ही मिला था और उन्होंने इसे स्वीकार भी किया था.  
 
उधर भारतीय अधिकारियों का मानना है कि कश्मीर में पाकिस्तान के हस्तक्षेप पर बंबावले के बयान से पाकिस्तानी अधिकारी नाराज हो गए, जिसके कारण यह कार्यक्रम रद्द हुआ. गौतम बंबावले ने कश्मीर को भारत का आंतरिक मामला बताते हुए उसमें पाकिस्तानी हस्तक्षेप की बात कही थी. अधिकारियों ने जोर देकर कहा कि आयोजकों की ओर से यह बहुत असम्मानीय बात है.