दौसा. राजस्थान के दौसा के एक गांव में एक दलित युवक की पिटाई मामला सामने आया है. युवक का अपराध सिर्फ इतना था कि उसने लड़की से मोबाइल पर बात की थी. उसके बाद दलित युवक को नंगा कर बेरहमी से पीटा गया और जूतों की माला पहना कर गांव में घुमाया गया. यह घटना दौसा जिले के बूटोली गांव की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
यह पीड़ित दलित युवक मंगलराम धांधोलोई बालाजी मंदिर में दर्शन कर वापिस गांव लौट रहा था, इसी दौरान 15 से 20 लोगों ने पीड़ित मंगलराम को जमकर पीटा और जूतों की माला पहनाकर गांव में भी घुमाया. हालांकि पंचायत ने इस युवक को लड़की से बात नहीं करने के लिए पाबंद कर दिया था, लेकिन गांव के रसूखदारों ने दलित युवक को बेइज्जत कर पीटा.
 
दलित युवक आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए थाने गया तो वहां भी युवक के साथ अन्याय ही हुआ. थाना इंचार्ज ने आरोपियों से मिलकर पीड़ित युवक को ही थाने में बंद कर दिया. पीड़ित ने एसपी से भी गुहार लगाई लेकिव वहां उसे न्याय नहीं मिला. घटना के डेढ़ महीने बाद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई. 
 
पीडित दलित युवक न्याय की आस में जयपुर के BJP मुख्यालय पहुंचा और मंत्री कालीचरण सराफ को अपनी फरियाद सुनाई और मामले को गंभीर मानते हुए पुलिस अधीक्षक को तुरंत जांच के आदेश दिए.