नई दिल्ली. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कश्मीर में अलगाववादियों के खिलाफ बड़ा बयान दिया है. उन्होंने इंडिया न्यूज से खास बातचीत में कहा है कि अलगाववादियों को दी जा रही सुविधाओं मे कटौती की जाएगी. अलगाववादियों के रवैये को देखते हुए उन्हें आतंकियों के नजरिए से ही देखा जाना चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हंसराज अहीर ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कश्मीर में शिष्टमंडल भेजा और सबके विचार जानने की कोशिश की लेकिन अलगाववादियों ने मिलने से मना करके जो व्यवहार किया, वह ठीक नहीं था. अलगाववादियों को दी जा रहीं हवाई सफर, होटल और सुरक्षा जैसी सुविधाओं पर जरूर विचार किया जाएगा.
 
अहीर ने आगे कहा, ‘अलगाववादी हमारे सुरक्षबलों पर हमला करते हैं. ऐसे में उन्हें कुछ न कहना भी गलत है. अलगाववादी और आतंकियों को एक ही नजरिए से देखना चाहिए.’
 
आज दिल्ली में सर्वदलीय बैठक जारी है. इस बैठक में ही अलगाववादियों को लेकर आगे की रण​नीति पर फैसला लिया जाएगा. बता दें कि कश्मीर में शांति बहाली के मसले पर 4 सितंबर को राजनाथ सिंह के नेतृत्व में 26 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल कश्मीर गया था. अलगाववादियों ने प्रतिनिधिमंडल से मिलने से इनकार कर दिया था.