श्रीनगर. हिंसा प्रभावित जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गये ऑल पार्टी डेलीगेशन के अलगाववादियों के द्वारा बहिष्कार के बाद आज गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मीडिया को संबोधित किया. इस दौरान अलगाववादियों पर निशाना साधते हुए राजनाथ सिंह ने उन्हें इंसानियत. कश्मीरियत और  जम्हूरियत का दुश्मन बताया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जम्मू-कश्मीर दौरे के दूसरे दिन राजनाथ ने अलगाववादियों को चेताता हुए कहा कि कोई किसी भ्रम में ना रहे, जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्सा थे, हैं और रहेंगे.  
 
इस दौरान राजनाथ सिंह ने अलगाववादियों पर निशाना साधते हुए कहा कि हम लोग अमन चैन का पैगाम लेकर घाटी में आए है. लेकिन वो (अलगाववादी) इंसानियत,  जम्हूरियत और कश्मीरियत में विश्वास नहीं रखते हैं. वो इसके दुश्मन हैं. राजनाथ सिंह ने कहा कि हम राज्य में हिंसा को रोकने के लिए राज्य सरकार को हरसंभव मदद देने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि घाटी में अमन-चैन के लिए हम किसी से भी बातचीत के लिए तैयार हैं. 
 
 
बता दें कि रविवार को डेलीगेशन के साथ किसी भी प्रकार की बातचीत से अलगाववादियों ने मना कर दिया था, जिसके बाद डेलीगेशन के 5 सदस्य अलगाववादी नेता गिलानी से मुलाकात करने उनके घर पहुंचे थे.