हांगझोउ. चीन में आज से शुरु हो रहे जी-20 शिखर सम्मेलन के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की. इससे पहले मोदी वियतनाम दौरे पर थे जहां भारत और वियतनाम के बीच 12 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस सम्मेलन में मोदी और शी जिनपिंग के बीच न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप (NSG) में भारत की सदस्यता सहित कई मुद्दों पर बात बनने की संभावना है. बता दें कि कुछ महीने पहले चीन ने एनएसजी में भारत की सदस्यता का विरोध भी किया था. अब देखना है इस बैठक में चीन क्या रुख अख्तियार करता है.
 
आज की बैठक में 46 अरब डॉलर वाले चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा जो पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में है सहित कई मुद्दों पर बात बन सकती है. इस बै़ठक में पाकिस्तान के साथ आतंक के मुद्दे पर भी बात होने की उम्मीद की जा रही है.
 
दक्षिण चीन सागर पर चीन के दावों को अंतरराष्ट्रीय ट्रिब्यूनल ने खारिज कर दिया है जिसका सीधा फायदा वियतनाम होगा और इससे भारत को भी फायदा होगा, क्योंकि चीन यहां भारत का विरोध करता रहा है. इस सागर से भारत का 50 फीसदी समुद्री व्यापार होता है. मोदी के इस दौरे में इस मुद्दे पर नए समझौते की उम्मीद है.
 
नरेंद्र मोदी रविवार को ब्रिक्स की दक्षिण एशियाई बैठक में भी शामिल होंगे जहां वे ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील और अर्जेंटीना के नेताओं से मिलेंगे
 
मोदी ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल और सऊदी अरब के उप क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के साथ होने वाली द्विपक्षीय बैठकों में भी शरीक होंगे.