नई दिल्ली. शराब कारोबारी और पूर्व राज्यसभा सासंद विजय माल्या हजारों करोड़ रुपए का लोन लेकर नहीं चुकाने के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने  बड़ी कार्रवाई की है. निदेशालय ने माल्या की 6630 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त कर ली है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जब्त संपत्तियों में माल्या का एक मॉल, फार्महाउस और माल्या के मालिकाना हक वाले शेयर शामिल हैं. माल्या की अटैच की गई प्रॉपर्टी में महाराष्ट्र स्थित 200 करोड़ रुपए का फार्महाउस, बेंगलुरु स्थित 800 करोड़ रुपए का मॉल, यूबीएल और यूएसल कंपनी के 3 हजार करोड़ रुपए के शेयर शामिल हैं. एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार ईडी ने माल्या के मुंबई और बेंगलुरु समेत देश के कई शहरों की संपत्तियों को जब्त किया. 
 
माल्या पर बैंकों का 9000 करोड़ रुपये से ज्यादा का बकाया है. मार्च में भारत छोड़ने के बाद माल्या लंदन में वक्त बिता रहे हैं. सरकार ने कार्रवाई करते हुए उनका पासपोर्ट रद्द कर दिया था. बीते हफ्ते स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की अगुवाई वाले बैंकों के समूह ने सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि माल्या ने जानबूझकर अपनी पूरी संपत्ति का खुलासा नहीं किया.
 
बैंकों के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद माल्या ने इस बात का जिक्र नहीं किया कि उन्हें एक ब्रिटिश कंपनी से 40 मिलियन डॉलर की रकम मिली है.