नई दिल्ली. अरुणाचल प्रदेश में ब्रह्मोस की तैनाती की घोषणा के बाद तिब्बत में दाओचेंग येडिंग एयरपोर्ट पर चीन का स्टील्थ फाइटर प्लेन जे 20 देखा गया है. यह इलाका भारत के अरुणाचल प्रदेश के पूर्व में है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि चीन में जी-20 सम्मेलन होने से कुछ दिन पहले ही चाइना ने यह हरकत की है. इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल होने जा रहे हैं.
 
बताया जा रहा है कि चीन ने अपने इस टॉप सीक्रेट लड़ाकू विमान को अभी तक दुनिया की नजरों से छिपाकर रखा था. इस प्लेन की तस्वीरें डिफेंस की बेवसाइट www.abovetopsecret.com और www.alert5.com पर देखी गई हैं. तस्वीर में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि प्लेन को एक कपड़े से ढका गया है.
 
जे 20 क्यों है खास ?
 
जे 20 की बात करें तो इसमें दो इंजन हैं और इसे राडार भी नहीं पकड़ सकता है. इस विमान को जनवरी 2014 में पहली बार लॉन्च किया गया था. भारत के पास जे 20 टाइप के विमान अभी नहीं हैं.
 
हाल ही में भारत ने अरुणाचल प्रदेश की सीमाओं पर ब्रह्मोस मिसाइल की तैनाती की घोषणा की थी जिसके बाद चीन ने विरोध किया था. वियतनाम ने भारत के ब्रह्मोस मिसाइल को खरीदने में रुची दिखाई है. वहीं पीएम मोदी शनिवार से वियतनाम दौरे पर जा रहे हैं, जहां वे ब्रह्मोस मिसाइल से वियतनाम से बात करने वाले हैं.