नई दिल्ली. लोकसभा की ऐसी सीटें जिसे बीजेपी कभी नहीं जीत पाई उनमें से 52 सीटों को 2019 में जीतने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मास्टरप्लान बनाया है जिसके तहत पार्टी के 52 राज्यसभा सांसदों से एक-एक सीट चुनने और उस सीट पर इस तरह से काम करने को कहा गया है जैसे कि वो उसी सीट के सांसद हों.
 
 
बीजेपी के राज्यसभा सदस्यों की बुधवार को हुई बैठक में अमित शाह ने संसद के ऊपरी सदन के सांसदों को संसद के निचली सदन यानी लोकसभा की एक-एक हारी हुई सीट की जिम्मेदारी लेने का निर्देश दिया. शाह ने कहा कि उन सीटों पर राज्यसभा सदस्य विजयी सांसदों की तरह काम करें और सरकार की उपलब्धियां वहां जनता तक पहुचाएं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अमित शाह ने 2019 में होने वाले आम चुनाव और तब तक होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर हाल के दिनों में पार्टी में रणनीतिक बैठकों का सिलसिला तेज़ कर दिया है. पार्टी के नेताओं को लगातार कहा जा रहा है कि 2019 तक होने वाले हर विधानसभा चुनाव में पार्टी की साख को बढ़ाना सबकी जवाबदेही है और इसमें कोई कोताही नहीं होनी चाहिए.
 
शाह ने बैठक में कहा कि जिन राज्यों में बीजेपी की सरकार है वहां सरकार में शामिल नेता भी पार्टी के काम को लोगों तक पहुंचाने में मदद करें और उन सीटों को जीतने की भरसक कोशिश करें जिन सीटों को बीजेपी आज तक एक बार भी नहीं जीत पाई है. बैठक का समापन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण से होगा. बैठक में बीजेपी के राज्यसभा सदस्यों के अलावा संसदीय बोर्ड के सदस्य और सभी महासचिव भी शामिल हैं.