लखनऊ. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तर्ज पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी घर-घर दस्तक देंगे. ये नया प्लान प्रशांत किशोर ने बिहार विधनासभा चुनाव की तर्ज पर बनाया है. जिसके तहत हरेक कांग्रेस कार्यकर्ता हर ब्लॉक में 25000 घरों पर दस्तक देंगे और 27 साल यूपी बेहाल का पर्चा घर घर तक पहुंचाएंगे. इतना ही नहीं राहुल की यात्रा के साथ-साथ कांग्रेस ब्रम्हाण सम्मेलन करेगी और साथ-साथ कांग्रेस की बस यात्रा भी चलेगी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राहुल गांधी यूपी में 6 सितंबर को देवरिया से यूपी चुनाव अभियान की शुरूआत करेंगे. राहुल गांधीजी प्रदेश में महा यात्रा 6 सितम्बर से देवरिया के रुद्रपुर तालुका से शुरू होकर ,इस दौरान राहुल गांधी 2500 किमी, 55 लोकसभा और 223 विधानसभा और 39 जिलों की यात्रा करेंगे. इनमें 39 में से 21 खंड सभा होंगी और बड़े छोटे शहरों में रोड शो करेंगे. इस दौरान राहुल कोई बड़ी पब्लिक मीटिंग नहीं करेंगे,यात्रा के दौरान राहुल किसानो असंगठित कामगारों और सभी तबकों से मिलेंगे और सबकी समस्या सुनेंगे. 
 
 
राज्य में जल्द ही होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर पार्टी के जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं और वोटरों तक पहुंचने के लिए यह रणनीति अपनाई बताई जा रही है. यूपी में कांग्रेस ने करीब तीन दशक पहले सत्ता संभाली थी. इस बार पार्टी ने अपना चेहरा दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित को बनाया है. 
 
 
अपने रोड शो के जरिए राहुल गांधी यूपी में फैले गुंडाराज और बेरोजगारी को मुद्दा बनाएंगे. यही नहीं इस रोड शो के जरिए लोगों को कांग्रेस से जोड़ने की कोशिश भी करेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के वाराणसी रोड शो के बाद कांग्रेस का यह दूसरा बड़ा रोड शो होगा जिसमें कांग्रेस के उत्तर-प्रदेश विधानसभा चुनाव से जुड़े सभी नेता मौजूद होंगे.