नई दिल्ली. भारतीय नौसेना के लिए तैयार की गई स्कॉर्पीन पनडुब्बी से जुड़ी गोपनीय जानकारियां लीक हो गई हैं. ये सबमरीन फ्रांसीसी शिपबिल्डर डीसीएनएस के साथ मिलकर भारत के माझगांव डॉक पर बनायी जा रही हैं. इससे देश की सुरक्षा व्यवस्था को झटका लगा है. ऐसा दावा एक आॅस्ट्रलियाई अखबार ने किया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अखबार के अनुसार उसे खुफिया जानकारी वाले लीक हो चुके 22,400 पेज मिले हैं, जिन पर ‘रेस्ट्रिक्टेड स्कॉर्पीन इंडिया’ लिखा हुआ है. ये पेज पनडुब्बी के संचालन के लिए बनाए गए पूर्ण दस्तोवेजों का हिस्सा हैं. इन दस्तावेजों में सबमरीन के अंडरवॉटर सेंसर, कॉम्बेट मैनेजमेंट सिस्टम, तारपीडो लॉन्च सिस्टम और कम्युनिकेशन/नेविगेशन सिस्टम की पूरी जानकारी है.
 
इस मामले पर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है, ‘यह हैकिंग का मामला है. हम इसका पता कर लेंगे.’ वहीं, यह अब भी यह साफ नहीं है कि दस्तावेज भारत या फ्रांस कहां से लीक हुए हैं.
 
स्कॉर्पीन पनडुब्बियों को सबसे अधिक आधुनिक माना जाता है. ये पानी के अंदर इतनी कम आवाज करती हैं कि इसकी मौजूदगी की भनक लगना बेहद मुश्किल होता है. 
 
सामरिक रूप से महत्वपूर्ण इस 3.5 बिलियन डॉलर के सौदे के तहत बन रही पनडुब्बियों में से एक आईएनएस कलवरी का समुद्र में ट्रायल चल रहा है. बाकी 5 सबमरीन को भी आने वाले 20 सालों के अन्दर शामिल किये जाने का लक्ष्य है।
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App