नई दिल्ली. रेलवे के बुनियादी ढांचे के विस्तार और आधुनिकीकरण के लिए सरकार निवेशकों को आकर्षित करना चाहती है. इसके लिए रेलवे 30,000 करोड़ रुपये का एक फंड बनाने जा रही है. यह देशभर में लाभकारी परियोजनाओं को लागू करने के लिए किसी राष्ट्रीय ट्रांस्पोर्टर द्वारा बनाया गया अपनी तरह का  पहला फंड है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एक सीनियर रेलवे अधिकारी का कहना है, ‘हम रेलवे आॅफ इंडिया डेवलपमेंट फंड (आरआईडीएफ) की स्थापना के लिए 30,000 करोड़ रुपये का फंड बना रहे हैं.’
 
उम्मीद है कि विश्व बैंक, नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट फंड, पेंशन और इंश्योरेंस फंड और अन्य संस्थागत निवेशक आरआईडीएफ का हिस्सा बनेंगे.
 
हालांकि, आरआईडीएफ केवल उन्हीें रेल प्रोजेक्ट्स में निवेश करेगा, जिनसे अधिक लाभ होने की संभावना होगी. सीनियर अधिकारी के अनुसार आरआईडीएफ माल गाड़ियों के लिए नई लाइनों या स्टेशनों के पुनर्विकास पर फोकस करेगा. 
 
किसी प्रोजेक्ट में निवेश से पहले एक सर्वे किया जाएगा और ऐसे प्रोजेक्ट उठाए जाएंगे जो कम से कम 14 से 16 प्रतिशत का लाभ दे सकें. रेलवे इसके लिए पहले कैबिनेट की मंजूरी लेगा.
 
वर्तमान में, रेलवे कई नई लाइनों पर काम कर रहा है जो आर्थिक रूप से कम फायदेमंद तो हैं लेकिन लोगों के लिए जरूरी हैं.कुछ प्रोजेक्ट पहाड़ी और दूर-दराज के क्षेत्रों में चल रहे हैं, जो वहां रह रहे लोगों को रेलवे से जोड़ेगा.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App